टेलेग्राम से जुड़े 👉 यहाँ क्लिक करे
Youtube 👉 यहाँ क्लिक करे

भारत में कृषि उत्पादन करने में ठीक प्रकार से खेती करने के लिए किन -किन की अवश्यकता होती है।

भारत में कृषि उत्पादन के लाभ।

भारत में कृषि पर अर्थव्यवस्था का मेरुदंड होता है तथा भारत में लगभग 48.9% जनसंख्या आजीविका के लिए कृषि पर निर्भर है और भारत की निजी क्षेत्र का यह सबसे बड़ा व्यवसाय है और भारत में जनवरी 2004 में राष्ट्रीय किसान आयोग का गठन हुआ था जिसके प्रथम अध्यक्ष सोमपाल रहे थे और भारत में किडजी बर्ड्स 1 जुलाई से 30 जून तक माना जाता है तथा भारत में कृषि क्षेत्र के GDP का 0.3% भाग कृषि का शोध प्रवेश किया जाता है लेकिन अमेरिका में यह चार परसेंट कृषि का बोध शोध कार्य किया जाता है और राष्ट्रीय किसान आयोग में 5% करने का सुझाव दिया जाता है भारत में आर्थिक समीक्षा 2015 से 2016 के अनुसार वर्ष 2014 से 2015 के अनुसार जी.डी.पी में कृषि की भागीदारी स्कीम दो पर 17.4 थी भारत में कृषि क्षेत्र के लिए कृषि का महत्व ना सिर्फ कच्चे माल की अपूर्ति तक सीमित है बल्कि यह औद्योगिक क्षेत्र में लगे लोगों के लिए खाद्यान्न तथा उद्योग एक उत्पाद हेतु बाजार भी प्रस्तुत करता है तथा भारत में बहुत सी कृषि इस तरह की होती हैं जिनमें अधिकतर उपयोग उन्हें बेचने के लिए बाजारों में किया जाता है और कृषि के हमें बहुत फायदा होता है।

कृषि आदान वा उत्पादन कैसी होनी चाहिए।

भारत में कृषि आज भी मानसून पर ही निर्भर करती है वर्ष 2012 से तेरे पूरे भारत के कुल फसल उत्पादन क्षेत्र में निवल सिंचाई क्षेत्र लगभग 33.9% था भारत में सबसे अधिक सिंचाई क्षेत्र की दृष्टि से चार राज्यों का अवरोही क्रम है 1. उत्तर प्रदेश 2. पंजाब 3. हरियाणा 4. तमिलनाडु आदि इन क्षेत्रों में किया जाता है और सबसे कम सिंचाई क्षेत्र वाला राज्य आसान होता है जिसमें बहुत कम मात्रा में सिंचाई की जाती है और कुल क्षेत्रों के प्रतिशत की दृष्टि से सर्वाधिक शिक्षित राज्य पंजाब और सर्वाधिक एसएस राज्य मिजोरम होता है और कृषि के लिए नलकूप कुआं कथा नहर द्वारा सिंचाई क्षेत्रों का क्षेत्रफल के आधार पर निम्न प्रकार से किया जाता है नलकूप द्वारा सर्वाधिक क्षेत्रफल की सिंचाई उत्तर प्रदेश में होती है देश के अधिकार भागों में ज्यादातर नहर वा कुओं से पानी दिया जाता है ।

भारत में विश्व व्यापार संगठन (WTO) की व्यापारी संख्या की के अनुसार वर्ष 2014 में विश्व व्यापार में भारत कृषि और आयात का हिस्सा 2.46%और 1.46%रहा था कृषि की शक्ल घरेलू उत्पादन के प्रतिशत में कृषि निर्यात वर्ष 2014 से 2015 में 12.8% हो गया था इसी अवधि के दौरान कृषि सकल घरेलू पाद के प्रतिशत के रूप में कृषि आयात 5.82% हो गया था।

अपने दोस्तों को भी शेयर करे
टेलेग्राम से जुड़े 👉 यहाँ क्लिक करे
Youtube 👉 यहाँ क्लिक करे
टेलेग्राम से जुड़े 👉 यहाँ क्लिक करे
Youtube 👉 यहाँ क्लिक करे

Leave a Comment